Anar खाने के 25 फायदे, नुकसान। अनार को इंग्लिशि में क्या कहते हैं


Anar Khane Ke Fayde – अनार को अगर फलों का राजा कहा जाए तो शायद गलत नहीं होगा। ऐसा इसलिए क्योंकि अनार खाने के फायदे एक या दो नहीं बल्कि ढेरों हैं। क्या आप जानते हैं कि अनार को इंग्लिश में क्या कहते या बोलते हैं। अगर नहीं तो चलिए जानते हैं आज अनार के फायदे, नुकसान, उपयोग और अनार से जुड़ी तमाम जानकारियों के बारे में। 

अनार एकलौता ऐसा फल होगा जिसे शायद ही कोई ना पसंद करें। आमतौर पर यह घरों में फलों की टोकरियों में दिखा मिल जाता है। वहीं जूस कॉर्नर पर अनार के जूस की कीमत अन्य फलों के जूस से काफी ज्यादा होती है। जाहिर है इसके पीछे की वजह है Anar Ke Fayde। लेकिन क्या आप जानते हैं कि Anar Ko English Me Kya Kehte Hain अगर नहीं, तो बता दें कि अनार को इंग्लिश में Pomegranate के नाम से जाना जाता है।

हो सकता है कि अंग्रेजी में इसे पुकारना थोड़ा मुश्किल है। लेकिन यकीन मानिए अनार के गुण आपके संपूर्ण स्वास्थ्य पर बेहद सकारात्मक प्रभाव डालते हैं। इसलिए आज हम आपको अनार खाने फायदे और नुकसान ही नहीं। बल्कि अनार से जुड़े हुए इतिहास और इसके पोषक तत्वों के बारे में भी सूचित करेंगे। आइए जानते हैं अनार के इन्हीं फायदे, नुकसानों और उपयोगों के बारे में। 

अनार क्या है – What is Pomegranate (Anar) in HindiAnar Khane Ke Fayde - अनार खाने के फायदे

हमारे देश में अनार को लेकर एक कहावत बहुत ज्यादा सुनने को मिलती है। वह है एक अनार और सौ बीमार। इसका अर्थ होता है कि अनार 100 बीमारियों से बचाने के लिए अकेला काफी है। आपको बता दें कि अनार एक फल है जिसका बाहरी हिस्सा लाल होता है और इसके लाल रंग के ढेर सारे रसभरे बीज होते हैं। इन्हीं के जरिए अनार का रस भी निकलता है। 

केवल अनार ही नहीं बल्कि अनार के छिलके का उपयोग भी कई समस्याओं के लिए किया जाता है। जिनमें से सबसे ज्यादा अनार के छिलके का उपयोग खांसी और गले से जुड़ी दिक्कतों को दूर करने के लिए किया जाता है। अनार का स्वाद अधिकतर मीठा होता है। लेकिन इसके तीन तरह के स्वाद होते है। इसी के आधार पर कहा जा सकता है कि अनार की तीन किस्में भी होती हैं। आइए जानते हैं अनार की किस्मों के बारे में। 

अनार की किस्मे 

दोस्तों अब तक आपने जान लिया है कि अनार को इंग्लिश में क्या बोलते हैं। अब बात करते हैं अनार की कुछ खास किस्मों के बारे में। 

  • सबसे पहले आते हैं देशी अनार जिनका स्वाद खट्टा मीठा होता है। 
  • दूसरे होते हैं कन्धार के अनार जो कि मीठे होते हैं। 
  • तीसरे होते हैं काबुली अनार। यह अनार न केवल स्वाद में बेहद मीठे होते हैं। बल्कि इनमें गुठली भी नहीं होती। जिसकी वजह से इन्हें बेदाना अनार के नाम से भी जाना जाता है। 

अनार के स्वाद के प्रकार 

  • मीठा रस वाला अनार
  • मीठा और खट्टा रस वाला अनार
  • खट्टे रस वाला अनार 

Anar के अंदर मौजूद औषधीय गुण 

  1. अनार के अंदर एंटी कैंसर गुण होते हैं जो आपको कैंसर से बचाकर रखते हैं। 
  2. अनार में एंटीट्यूमर गुण होते हैं जो आपके शरीर में ट्यूमर को पैदा होने से रोकते हैं। 
  3. इसमें एंटी ऑक्सीडेटिव गुण होते हैं तो जो आपको फ्री रेडिकल्स की समस्या से छुटकारा दिलाने का काम करते हैं। 
  4. अनार में आपको एंटी इंफ्लेमेटरी गुण मिल जाते हैं जो सूजन को कम करने का काम करते हैं। 
  5. अनार के अंदर आपको एंटीमाइक्रोबियल गुण मिल जाते हैं जो सूक्ष्म बैक्टीरिया को नष्ट करने का काम करते हैं। 
  6. अनार दांतों के लिए लाभदायक माना जाता है। इसके अंदर एंटीपलाक गुण होता है जो प्लाक को हटाने का काम करता है। 
  7. अनार एंटीहाइपरटेन्सिव गुणों के लिए भी जाना जाता है। इसके जरिए रक्तचाप को कम किया जा सकता है। 
  8. अनार में एंटीएथीरियोजेनिक गुण होता है जो रक्त की धमनियों में फैट को जमा होने से रोकता है। 
  9. अनार को एंटीडायबिटिक गुणों के लिए भी जाना जाता है। 
  10. अनार एंटीपैरासिटिक परजीवियों को नष्ट करने के लिए भी जाना जाता है। 
  11. अनार के अंदर एंटी फंगल गुण होते हैं जो फंगस को खत्म करने के लिए जाने जाते हैं। 
  12. एंटीवायरस गुणों के लिए जाना जाता है अनार, जिसके जरिए आप वायरस के प्रभाव या वायरल फीवर से बचे रहते हैं। 
  13. अनार के अंदर एंटी प्रोलाइफरेटिव गुण होते हैं जो खतरनाक कोशिकाओं के निर्माण को रोकते हैं। 

अनार के इन्हीं गुणों के चलते इसे लेकर वह कहावत भी कही जाती है। जो है एक अनार और सौ बीमार। यानी एक अनार से सौ बीमारियां दूर हो सकती है। 

अनार के पोषक तत्व 

दोस्तों अब तक आपने अनार को इंग्लिश में क्या कहते हैं यह तो जान लिया है। साथ ही अनार के अंदर किस तरह के औषधीय गुण होते हैं यह भी जाना है। अब बारी आती है अनार के अंदर पोषक तत्वों की जानकारी हासिल करने की। आइए टेबल के माध्यम से समझते हैं कि अनार के अंदर प्रति 100 ग्राम पर आपको कौन से पोषक तत्व मिलते हैं और कितनी मात्रा में मिलते हैं। 

Nutrients Unit Per 100 GM
Water g 77.93
Energy Kcal 83
Protein g 1.67
Fat g 1.17
Carbs g 18.7
Dietary Fiber g 4
Sugar g 13.67
Calcium mg 10
Iron mg 0.3
Magnesium mg 12
Phosphorus mg 36
Potassium mg 236
Sodium mg 3
Zinc mg 0.35
Copper mg 0.158
Manganese mg 0.119
Selenium µg 0.5
Vitamin C mg 10.2
Thiamine mg 0.067
Riboflavin mg 0.053
Niacin mg 0.293
Vitamin B-6 mg 0.075
Folate µg 38
Vitamin A IU 00
Vitamin E mg 0.6
Vitamin K µg 16.4
Saturated Fat g 0.12
Monounsaturated Fat g 0.093
Pauli Saturated Fatty Acids g 0.079

अनार के अन्य भाषाओं में नाम – Pomegranate Name in Other Languages

  1. Pomegranate in Hindi – अनार, दाड़िम
  2. Anar Ko English Me Kya Kehte Hain – Pomegranate
  3. Anar in Urdu – गुल अनार 
  4. Pomegranate in Sanskrit – दाड़िम, करक, रक्त पुष्पक लोहित पुष्पक
  5. Pomegranate in Gujarati – दाड़म, गुलनार 
  6. Anar in Punjabi – दारुण, धारू, जामन
  7. Anar in Nepali – अनार 
  8. Pomegranate in Persian –  अनार, दरख्ते गुलनार 
  9. Anar in Marathi – दालिम्ब

अनार खाने के फायदे – Benefits of Pomegranate in Hindi 
अनार खाने के फायदे - Benefits of Pomegranate in Hindi 

दोस्तों अब तक आपने अनार के औषधीय गुण समेत इसके पोषक तत्वों के बारे में जाना है। साथ ही अब तक आप जान गए हैं कि अनार को इंग्लिश में क्या बोलते हैं। अब आगे हम अनार के फायदे क्या – क्या होते हैं। इसके बारे में जानेंगे। अगर आप अनार खाने के फायदे नुकसान और उपयोग से जुड़ी जानकारी हासिल करना चाहते हैं तो हमारे इस लेख पर अंत तक बने रहें। 

पाचन क्रिया के लिए अनार 

अनार के गुणों में एक खास गुण यह भी है कि अनार के अंदर आपको पर्याप्त मात्रा में फाइबर पाया जाता है। फाइबर न केवल आपकी पाचन क्रिया को दुरुस्त करता है। बल्कि यह आपको कब्ज और गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल ट्रैक्ट से जुड़ी समस्याओं से राहत दिलाता है।

यही नहीं अनार के अंदर एट एंटी – हेलिकोबैक्टर पाइलोरी प्रभाव होता है जो एक प्रकार का बैक्टीरिया है और पेट में पाया जाता है। जो पाचन तंत्र को लाभ पहुंचा सकता है। हालांकि इस ओर अभी कुछ अन्य शोधों की आवश्यकता है।

गर्भवती महिलाओं पर अनार के फायदे 

गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को अपनी सेहत का जरूरत से ज्यादा ही ध्यान रखना पड़ता है। ऐसे में महिलाओं को उन चीजों को खाने की सलाह दी जाती है जिनमें कई पोषक तत्व और विटामिन पाए जाते हैं। इस स्थिति में अनार एक बेहद गुणकारी फल माना जाता है। 

हाल ही में एनसीबीआई के द्वारा प्रकाशित लेखों में भी बताया गया है कि गर्भावस्था के दौरान प्लेसेंटा को होने वाले खतरे से बचाने के लिए अनार फायदेमंद होता है। इसके अलावा अनार के अंदर फोलेट भी पाया जाता है जो शिशु के विकास और स्वास्थ्य दोनों के लिए जरूरी माना जाता है। लेकिन ध्यान रहे कि गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को किसी भी चीज का सेवन केवल डॉक्टर की सलाह पर ही करना चाहिए। 

यौन क्षमता करे बेहतर 

आपने शायद इरेक्टाइल डिसफंक्शन की समस्या के बारे में पहले भी सुना होगा। आपको बता दें कि यह पुरुषों से जुड़ी एक समस्या है। जिसकी वजह से पुरुष की यौन क्षमता प्रभावित होने लगती है। ऐसे में पुरुषों को अक्सर अनार के सेवन की सलाह दी जाती है।

हाल ही में हुए शोध बताते हैं कि अनार के अंदर एंटीऑक्सीडेंट गुण पाए जाते हैं जो इरेक्टाइल डिसफंक्शन की स्थिति में सुधार ला सकते हैं। वहीं इसी समस्या को लेकर चूहों पर भी एक अध्ययन हो चुका है। यह अध्ययन भी इसी ओर इशारा करते नजर आ रहे हैं कि Anar Khane Ke Fayde इरेक्टाइल डिसफंक्शन के दौरान होते हैं। 

अल्जाइमर में अनार के लाभ 

अल्जाइमर की स्थिति आमतौर पर बड़े बुजुर्गों को हो ही जाती है। इस स्थिति में अक्सर व्यक्ति अपनी याददाश्त पर से पकड़ छोड़ने लगता है और उसे कुछ भी याद रख पाना बेहद मुश्किल हो जाता है। ऐसे में अनार का सेवन किया जा सकता है। आपको बता दें कि अनार को लेकर हाल ही में हुए एक शोध बताता है कि इसमे पाया जाने वाला एंटीऑक्सीडेंट गुण ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस को कम करने का काम करता है।

इसके अलावा एंटीऑक्सीडेंट गुण के कारण न्यूरोप्रोटेक्टिव प्रभाव भी पाया जाता है। इसी आधार पर कहा जा सकता है कि अनार का सेवन अल्जाइमर की स्थिति में फायदेमंद हो सकता है। 

फैटी लिवर से बचाए 

आज के समय में लिवर से जुड़ी बीमारियां लोगों के बीच बढ़ती जा रही है। ऐसी ही एक समस्या है फैटी लिवर की जो बहुत लोगों को परेशान कर रही है। इस समस्या से पीड़ित लोगों को लेकर हाल ही में हुए शोध बताते हैं कि अनार के अंदर मौजूद गुण ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस और सूजन को कम करने का काम करते हैं।

जिसकी वजह से लिवर के आस पास आई सूजन और फैट को कम किया जा सकता है। ऐसे में वह लोग पहले शराब का सेवन बहुत ज्यादा करते थे उन लोगों को अनार का सेवन करना चाहिए। इससे फैटी लिवर की स्थिति से राहत पाई जा सकती है। 

फंगस से बचाने में 

Anar Ke Fayde फंगल इन्फेक्शन से बचाने में भी देखने को मिल सकते हैं। ऊपर हमने आपको बताया है कि अनार के अंदर एंटी फंगल गुण मौजूद होते हैं। यह गुण फंगस से छुटकारा दिलाने में आपकी सहायता कर सकते हैं। इसके अलावा हाल ही में हुई कई रिसर्च भी इसी ओर इशारा करती हैं कि  अनार के सेवन से फंगस से छुटकारा पाया जा सकता है। 

वजन घटाने में अनार खाने के फायदे 

ऐसे लोग जो वजन घटाने की प्रक्रिया में हैं उन लोगों के लिए अनार का सेवन लाभदायक माना जाता है। आपको बता दें कि हाल ही में एनसीबीआई की वेबसाइट पर प्रकाशित एक शोध के मुताबिक अनार और उसके अर्क बढ़ते वजन को न केवल नियंत्रित करता है। बल्कि वजन घटाने में भी सहायता करता है।

इसके अलावा अनार में मौजूद फाइबर के जरिए आपका पेट भी लंबे समय तक भरा रहता है। जिसकी वजह से आप असमय कुछ भी खाने से बचे रहते हैं। अनार के इन्हीं गुणों के आधार पर कहा जा सकता है कि वजन घटाने में अनार कारगर सिद्ध हो सकता है। 

हड्डियों को करें मजबूत 

अनार एक ऐसा फल है जिसमें न केवल कैल्शियम होता है। बल्कि इसमें एंटी इंफ्लेमेटरी गुण पाए जाते हैं। यह दोनों ही गुण हड्डियों के लिए महत्वपूर्ण माने जाते हैं। वहीं वह लोग जो अर्थराइटिस की समस्या से पीड़ित हैं, उन लोगों के लिए अनार में मौजूद एंटी इंफ्लेमेटरी गुण बेहद कारगर होता है।

 इसके जरिए सूजन और जोड़ों में दर्द की समस्या को कम किया जा सकता है। वहीं कैल्शियम हड्डियों को मजबूत करने और उनके विकास में एक अहम भूमिका निभाता है। इस लिहाज से कहा जा सकता है कि Anar Khane Ke Fayde हड्डियों की मजबूती में योगदान दे सकते हैं। 

डायबिटीज के लिए अनार 

डायबिटीज की बीमारी आज के समय सबसे खतरनाक बीमारियों में से एक है। ऐसे में वह लोग जिनकी फैमिली हिस्ट्री के अंदर डायबिटीज रही है या वह लोग जो इस समस्या से पीड़ित हैं। इन सभी लोगों के लिए अनार फायदेमंद सिद्ध होता है। 

आपको बता दें कि अनार के अंदर एंटीडायबिटिक गुण होते हैं  जो डायबिटीज के होने के कारणों को समाप्त करते हैं। बल्कि अनार के रस में मौजूद शुगर भी रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करती है। इस आधार पर अनार को डायबिटीज में लाभदायक माना जा सकता है। 

हृदय के स्वास्थ्य के लिए 

फलों को हमेशा से ही हृदय स्वास्थ्य के लिए किसी रामबाण की तरह समझा जाता है। ऐसा ही कुछ अनार के साथ भी है। ऐसे कई शोध हो चुके हैं जो इस बात का खुलासा करते हैं कि अनार के अंदर एंटीहाइपरटेन्सिव गुण होते हैं जो ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने का काम करते हैं। इसके अलावा अनार में एंटीएथीरियोजेनिक गुण होते हैं जो धमनियों में फैट को जमने से रोकता है। 

अनार के गुणों के चलते शरीर में रक्त प्रवाह सही प्रकार बना रहता है और हृदय रोग होने की संभावना बेहद कम हो जाती है। इसके अलावा आपको बता दें कि अलावा बता दें कि अनार के अंदर संपूर्ण लिपिड प्रोफाइल को भी नियंत्रित किया जा सकता है। साथ ही अनार के बीज का तेल भी कई तरह से शरीर को लाभ पहुंचाता है।

कैंसर से बचाव में अनार 

अनार किस तरह कैंसर से आपकी रक्षा करता है इस पर कई शोध हो चुके हैं। इन शोधों के मुताबिक अनार के अंदर पॉलीफेनोल्स नामक गुण होते हैं जो कैंसर विरोधी होते हैं। यही नहीं अनार के अंदर एलेगिटैनिंस और गैलेटैनिंस नामक पॉलीफिनोल्स गुण भी मौजूद होते हैं।

जो शरीर में ट्यूमर को पैदा होने से रोकते हैं और उसे अधिक गंभीर होने से भी रोकते हैं। कुल मिलाकर अनार खाने के फायदे कैंसर से बचने में और ट्यूमर को रोकने में भी देखे जा सकते हैं। अगर आप भी कैंसर से बचना चाहते हैं को अनार का सेवन जरूर करें। 

इम्यूनिटी के लिए Anar 

कमजोर इम्यूनिटी न केवल आपको मौसम बदलने के दौरान परेशान करती है। बल्कि आप अक्सर छोटी – छोटी चीजों की वजह से बीमार होने लगते हैं। ऐसे में अनार आपकी इम्यूनिटी को बूस्ट करने के लिए बेहद फायदेमंद सिद्ध हो सकता है। आपको बता दें कि अनार के अंदर एंटीऑक्सीडेंट, एंटीबैक्टीरियल और एंटीवायरल गुण होते हैं। अनार के इन्हीं गुणों के चलते न केवल आप मौसम की मार से बचे रहते हैं।

बल्कि आप कई गंभीर वायरस की चपेट में आने से भी बच जाते हैं। इसके अलावा एक दूसरे शोध से पता चला है कि अनार के बीज से निकले तेल के जरिए रोग प्रतिरोधक क्षमता को बेहतर किया जा सकता है। इन शोधों और अनार के गुणों के आधार पर कहा जा सकता है कि Anar Ke Fayde इम्यूनिटी पर देखने को मिल सकते हैं। 

बीपी के मरीजों के लिए अनार 

आपको हमने ऊपर भी बताया कि अनार के अंदर एंटीहाइपरटेन्सिव गुण होते हैं जो ब्लड प्रेशर सामान्य बनाए रखने में सहायता करते हैं। इसके अलावा यह बैड कोलेस्ट्रॉल के स्तर को भी कम करने करता है। यही कारण भी है जिसकी वजह से ज्यादातर डॉक्टर बीपी के मरीजों को अनार के जूस का सेवन करने की सलाह देते हैं। 

सूजन से छुटकारा 

ऐसे लोग जो अर्थराइटिस की समस्या से पीड़ित हैं या जिनके हाथ पांव में सूजन की समस्या बनी रहती है। उन लोगों के लिए अनार बेहद लाभदायक होता है। आपको बता दें कि अनार के अंदर एंटी इंफ्लेमेटरी गुण होता है। अनार का यह गुण शरीर से सूजन कम करने काम करता है।

यूं तो अब तक अनार और सूजन के संबंध में कई शोध हो चुके हैं। लेकिन अभी इस पर कुछ अन्य शोध होने बाकी हैं। लेकिन तब तक के लिए माना जा सकता है कि अनार के जूस से सूजन की समस्या से राहत मिलती है। 

किडनी स्टोन में अनार 

अनार के अंदर एंटी – हाइपरकैल्सीयूरिया नामक गुण होता है जो कैल्शियम को नियंत्रित करने का काम करता है। इसके अलावा अनार में एंटी – यूरोलिथियासिस गुण होता है जो स्टोन की प्रक्रिया को रोकने का काम करता है। ज्ञात हो कि शरीर में अधिक कैल्शियम के कारण स्टोन की समस्या पैदा हो सकती है। ऐसे में कहा जा सकता है कि अनार के सेवन से किडनी स्टोन से राहत पाई जा सकती है।

अनार के अन्य फायदे – Anar Ke Fayde अनार के अन्य फायदे - Anar Ke Fayde 

  1. बढ़ती उम्र के लक्षण जैसे झुर्रियां और स्किन ढीला पड़ जाने की समस्या के दौरान भी आप अनार का सेवन कर सकते हैं। आपको बता दें कि अनार के अंदर विटामिन सी और एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं जो आपकी त्वचा को नरिश करने का काम करते हैं। 
  2. मुंह के स्वास्थ्य के लिए अनार फायदेमंद माना जाता है। आपको बता दें कि अनार के अंदर एंटी प्लाक गुण होते हैं जो पायरिया, मसूड़ों से खून आना, सूजन की समस्या को कम कर सकता है। 
  3. अनार के अंदर मौजूद अर्थराइटिस और जोड़ों के दर्द से जुड़ी समस्या में कारगर होता है। 
  4. अनार के अंदर आयरन भी प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। यह आपको एनीमिया की समस्या से भी बचाकर रखता है। 
  5. ऐसी महिलाएं जो शारीरिक रूप से कमजोर हैं या जिनकी प्रजनन क्षमता अच्छी नहीं है। उन महिलाओं को लिए अनार के जूस का सेवन लाभदायक माना जाता है। 
  6. चेहरे पर पड़े दाग और धब्बों को हटाने के लिए अनार का सेवन किया जा सकता है। इसके अलावा अनार के पत्तों के पेस्ट को तैयार करके भी स्किन पर लगाया जा सकता है। 
  7. पेट के कीड़ों से छुटकारा पाने के लिए आप अनार के पत्तों का पेस्ट बनाकर सुबह शाम छाछ के साथ पी सकते हैं। इससे पेट के कीड़े मरने लगेंगे। 
  8. अगर आप गंजेपन की समस्या से छुटकारा पाना चाहते हैं तो अनार के पत्तों को किसी तेल में उबालकर रोजाना लगाएं। इससे आपके बालों के झड़ने की समस्या खत्म हो सकती है। 
  9. मुंह के छालों से राहत पाने के लिए आप अनार के पत्तों का पेस्ट बनाकर इस्तेमाल कर सकते हैं। 

अनार के उपयोग के तरीके – Uses of Pomegranate in Hindi अनार को इंग्लिश में क्या बोलते हैं

अनार के उपयोग का तरीका इस बात पर निर्भर करता है कि आप उसे किस चीज या समस्या के लिए उपयोग में ले रहे हैं। आइए जानते हैं अनार का उपयोग आप किस – किस तरह से कर सकते हैं। 

  1. खांसी की समस्या के दौरान आप अनार के छिलके को चबा सकते हैं। इसके जरिए आपको खांसी से छुटकारा मिल जाएगा। 
  2. कई समस्याओं जैसे बाल झड़ने, दस्त, पेट दर्द, पेट के कीड़ों की समस्या, और स्किन से जुड़ी समस्या के दौरान आप अनार के पत्तों के रस का इस्तेमाल कर सकते हैं। 
  3. अनार के फायदे सेहत को पूरी तरह मिले इसके लिए आप अनार का जूस पी सकते हैं। या फिर आप अनार के दानों को खा भी सकते हैं। 
  4. अनार के दानों का उपयोग टोपिंग के तौर पर कई डिश में किया जाता है। अगर आप भी इसका उपयोग करना चाहते हैं तो कर सकते हैं

अनार खाने के नुकसान – Side Effects of Pomegranate in Hindi अनार को इंग्लिश में क्या कहते हैं

दोस्तों हमारे इस लेख में आपने अनार खाने के फायदे, उपयोग और इससे जुड़ी कई जानकारियां हासिल की हैं। लेकिन जिस तरह एक सिक्के के दो पहलू होते हैं। उसी तरह अनार के कुछ नुकसान भी हैं जो हम आपको बताने वाले हैं। अनार के नुकसान को जानकर आप तय कर सकते हैं कि आपको किस मात्रा में अनार का सेवन करना है। साथ ही क्या आपके लिए अनार फायदेमंद है भी या नहीं। 

अनार के नुकसान 

  • ऐसे लोग ब्लड शुगर लेवल या डायबिटीज की समस्या से पीड़ित हैं वह लोग अनार के सेवन से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें। क्योंकि अनार के अंदर कई ऐसे गुण भी होते हैं जो दवा के असर को प्रभावित कर सकते हैं। 
  • ऐसे लोग जिन्हें एलर्जी की समस्या है वह लोग अनार के सेवन डॉक्टर की सलाह के बाद ही करें। साथ ही अनार की मात्रा का भी खास ध्यान रखें। वरना इसकी वजह से एलर्जी की समस्या अधिक बढ़ सकती है। 
  • वह लोग जो ब्लड प्रेशर की दवा का सेवन करते हैं। उन लोगों को भी अनार के सेवन से बचना चाहिए। या फिर इसके सेवन से पहले डॉक्टर से बात करनी चाहिए। क्योंकि यह आपकी स्थिति को बिगाड़ सकता है। 
  • ऐसे लोग जिनकी तासीर ठंडी रहती है उन्हें अनार का सेवन कम मात्रा में ही करना चाहिए। 

नोट – अनार खाने के लाभ और नुकसान इसकी मात्रा और व्यक्ति की स्थिति पर निर्भर करते हैं। ऐसे में अनार को किसी बीमारी का उपचार समझना एक बड़ी गलती हो सकती है। इसलिए अनार का सेवन केवल फल के तौर पर या किसी उपाय के तौर पर ही करें। अनार खाने से कोई दिक्कत हो तो तुरंत इसका सेवन बंद कर दें और डॉक्टर से संपर्क करें।

निष्कर्ष

दोस्तों हमने अपने इस लेख में आपको Anar Khane Ke Fayde और नुकसान के बारे में बता दिया है। साथ ही आपने जान लिया है कि अनार को इंग्लिश में क्या बोलते हैं। अब अगर आप अनार का सेवन करना चाहते हैं तो कर सकते हैं। अगर आपको यह लेख पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

  1. अनार को इंग्लिश में क्या कहते हैं?

    अनार को इंग्लिश में Pomegranate के नाम से जाना जाता है।

  2. अनार का सेवन किस समय सबसे ज्यादा फायदेमंद माना जाता है?

    अनार का जूस या अनार के दाने खाने का सबसे सही समय सुबह का होता है। यह न केवल ऊर्जा प्रदान करता है। बल्कि संपूर्ण स्वास्थ्य को लाभ पहुंचाता है।

  3. क्या खाली पेट अनार का जूस या अनार के दाने खाए जा सकते हैं?

    हां, अनार का सबसे अधिक लाभ आपको तभी मिलता है जब खाली पेट आप इसका सेवन करते हैं।

  4. क्या अनार की तासीर गर्म होती है?

    नहीं अनार की तासीर ठंडी होती है। ऐसे में उन लोगों को इसका सेवन करने से पहले थोड़ा सावधान होना जरूरी है जिनकी खुद की तासीर ठंडी है।

यह भी पढ़े
काजू खाने के फायदे
पेट कम करने की एक्सरसाइज
किवी फल खाने के फायदे
बवासीर क्या है और कैसे करें इसे ठीक


About The Post : studyholic is an aggregator of content and does not claim any rights on the content or Images. The copyrights of all the content belongs to their respective original owners. All content has been linked to respective platforms.

View source version on : https://readonmirror.com/anar-khane-ke-fayde/

Leave a Comment