Papita खाने के 26 फायदे, नुकसान और उपयोग। About Papaya


पपीता एक ऐसा फल है जिसका स्वाद और रंग दोनों ही बहुत बेहतरीन होते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि Papita Khane Ke Fayde क्या हैं। अगर नहीं तो चलिए जानते हैं आज पपीता के फायदे, नुकसान और उपयोग से जुड़ी बहुत सी जानकारी, जो आपको पपीता खाने पर मजबूर कर देंगी। 

क्या विज्ञान और क्या आयुर्वेद दोनों ही फल खाने की पैरवी करते नजर आते हैं। कहा जाता एक स्वस्थ शरीर पाने के लिए फलों का सेवन बेहद जरूरी होता है। फलों के जरिए न केवल विषाक्त पदार्थ बाहर निकलते हैं। बल्कि इसकी वजह से शरीर की कार्य क्षमता भी बेहतर होती है। इसलिए आज हम आपके सामने पपीता खाने के फायदे और नुकसान लेकर आए हैं। अब तक आपने केवल सुना ही होगा कि Papita Ke Fayde होते हैं। लेकिन असल में पपीता के लाभों की सूची कितनी लंबी है। इसका अंदाजा लगाना भी आपके लिए मुश्किल होगा। इसलिए चलिए आज विस्तार से जानते हैं न केवल पपीता के फायदे और नुकसान, बल्कि इसका उपयोग हम कैसे कर सकते हैं और पपीता खाने का सही समय क्या है। 

पपीता क्या है – What is Papaya in Hindi पपीता खाने के फायदे

Papita यानी पपाया दोनों का अर्थ तो एक ही है। आपको बता दें कि पपीता एक फल है जो कैरिकैसी कुल सें आता है। यह खाने में बेहद मीठा और बड़े आकार का होता है।  पपीता मुख्य रूप से सबसे पहले अमेरिका के उष्णकटिबंधीय क्षेत्र में उगाया जाता था। भारत के अंदर भी पपीते को पहली बार पुर्तगाली लोग ही लेकर आए थे। कच्चा पपीता हरे रंग का होता है। वहीं जब यह पूरी तरह पक जाता है तो इसका रंग पीला या संतरी हो जाता है। 

पपीते से जुड़ी महत्वपूर्ण बातें – Important Things About Papaya in Hindi

  1. पपीता खाने में भले ही एक मीठा फल हो लेकिन इसका अधिक सेवन करने से बचना चाहिए। खासतौर से उन लोगों को जिनकी तासीर गर्म है। क्योंकि पपीते की तासीर भी गर्म ही होती है। 
  2. पपीते के उत्पत्ति सबसे पहले मैक्सिको और अमेरिका में हुआ करती थी। 
  3. पपीता पेड़ पर लगने वाला एक फल है। इसकी पत्तियां कुछ पैनी जरूर नजर आती है। साथ ही पपीते के पेड़ पर हल्का कट लगाने से यह उसे नुकसान पहुंचाने पर इसमें से सफेद रंग का तरल पदार्थ निकलने लगता है। जिसे कुछ लोग पपीते का दूध भी कहते हैं। 
  4. पपीते के जरिए न केवल बहुत कॉस्मेटिक उत्पाद बनाए जाते हैं। बल्कि इसके उपयोग च्विंगम बनाने के लिए भी किया जाता है। 
  5. सेहत में गुणों का खजाना होने के बावजूद पपीते का सेवन गर्भावस्था के दौरान नहीं करना चाहिए। इससे गर्भपात होने का खतरा बढ़ जाता है। 
  6. अमेरिका में सबसे पहले उगाए जाने के बावजूद पपीते की दुनिया की कुल मांग का आधा हिस्सा भारत द्वारा ही पूरा किया जाता है। यानी भारत पपीते के दुनिया में सबसे बड़ा उत्पादक है। भारत के जरिए हर साल करीब 30 लाख टन पपीते का उत्पादन किया जाता है। 
  7. भारत में पपीते की सबसे ज्यादा खेती आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, केरल, पश्चिम बंगाल, असम, उड़ीसा, गुजरात, मध्य प्रदेश, में की जाती है। 

पपीते के पोषक तत्व – Papaya Nutrients in Hindi 

दोस्तों पपीता खाने के फायदे जानने से पहले आपको बता दें कि पपीता के अंदर कई पोषक तत्व पाए जाते हैं। इन्हीं पोषक तत्वों की सूची हम आपको टेबल के माध्यम से बता रहें हैं, जो कुछ इस प्रकार हैं। 

Nutrients Per 100 Gram
Water 88.1 
Energy 43 kcal
Protein 0.47 
Fat 0.26 
Carbs 10.82 
Fiber 1.7 
Sugar 7.82 
Calcium 20 मिलीग्राम
Iron 0.25 मिलीग्राम
Magnesium 21 मिलीग्राम
Phosphorus 10 मिलीग्राम
Potassium 182 मिलीग्राम
Sodium 8 मिलीग्राम
Zinc 0.08 मिलीग्राम
Manganese 0.04 मिलीग्राम
Copper 0.045 मिलीग्राम
Selenium 0.6 माइक्रोग्राम
Vitamin C 60.9 मिलीग्राम
Thiamine 0.023 मिलीग्राम
Riboflavin 0.027 मिलीग्राम
Niacin 0.357 मिलीग्राम
Vitamin B-6 0.038 मिलीग्राम
Folate 37 माइक्रोग्राम
Collin 6.1 मिलीग्राम
Vitamin A 47 माइक्रोग्राम
Beta Caretine 274 माइक्रोग्राम
Vitamin A IU 950 IU
Vitamin K 2.6 माइक्रोग्राम
Total Saturated Fat 0.081 
Total MonoSaturated Fat 0.072 
Total Pauli Fatty Acid 0.058 

पपीता खाने के फायदे – Papita Khane Ke Fayde
पपीता खाने के फायदे - Papita Khane Ke Fayde

दोस्तों अगर आप हेल्थ पर जरा भी ध्यान देते होंगे तो पपीते की पोषक तत्वों की सूची के जरिए आपको कुछ आइडिया तो लग गया होगा। आखिर पपीते के फायदे क्या हैं। लेकिन अगर आप अभी भी पपीता को लेकर साफ तौर इसके फायदे जानना चाहते हैं तो हमारे इस लेख पर अंत तक बने रहें। आगे हम आपको पपीता खाने के फाययदे और नुकसान के बारे में ही बताने वाले हैं।

हार्ट के लिए  पपीता 

आज के समय में हृदय रोग से पीड़ित मरीजों की संख्या हर रोज बढ़ती जा रही है। ऐसे में हृदय रोग से बचने के लिए और सुरक्षित रहने के लिए आप पपीते का सेवन कर सकते हैं। आपको बता दें हाल ही में एनसीबीआई के द्वारा जारी की गई एक रिसर्च से पता चलता है कि पपीता हृदय की क्षमता को बढ़ाने और उसे बेहतर करने का काम करता है। इसके अलावा आपको बता दें कि पपीते के अंदर एंटी ऑक्सीडेंट और कार्डियो प्रोटेक्टिव गुण होते हैं, जो आपके हृदय को सुरक्षित रखने के लिए जाने जाते हैं। इस लिहाज से कहा जा सकता है कि पपीते के फायदे हृदय पर होते हैं। 

पाचन के लिए पपीते के लाभ

अगर आप उन लोगों में से हैं जो पाचन संबंधी समस्याओं से जूझ रहे हैं तो यकीन मानिए आपको पपीते को जरूर आजमाना चाहिए। आपको बता दें कि पपीते के अंदर हाइमोपैपेन और पैपेन जैसे कंपाउंड पाए जाते हैं, जो पाचन संबंधी समस्याओं पर सीधा असर डालते हैं। इसके अलावा पपीते में ऐसे गुण भी होते हैं जो अल्सर की समस्या से बचा सकें। पपीते खाने के लाभ यही तक सीमित नहीं है, बल्कि यह आपको पेट फूलने, अपच और कब्ज की समस्या से भी राहत दिलाते हैं। यही नहीं पपीते के सेवन से शरीर के अंदर मौजूद विषाक्त पदार्थों को भी बाहर किया जा सकता है।

कैंसर से बचाए

आज कैंसर जैसी बीमारी हजारों करोड़ों लोगों को अपनी चपेट में लेती जा रही है। ऐसे में जरूरी है कि कुछ ऐसी चीजों का सेवन किया जाए जो कैंसर की समस्या को पैदा होने से रोक सके। ऐसे ही गुणों के लिए जाना जाता है पपीता। आपको बता दें सालों से चल रहे अध्ययन के जरिए पता चला है कि पपीता में पेक्टिन कंपाउंड होता है, जो शरीर में कैंसर को पैदा होने से रोकता है। हालांकि अभी इस पर कुछ शोध होने बाकि हैं। वहीं पपीते का सेवन करते समय इस बात का ध्यान रखें कि यह कैंसर को पैदा होने से रोक सकता है, यह इसका उपचार नहीं कर सकता। 

एंटीऑक्सीडेंट गुण 

हमारे स्वास्थ्य के लिए ऐसी खाद्य सामग्री जरूरी होती है जिसमें एंटीऑक्सीडेंट गुण मौजूद हों। ऐसे में पपीते का सेवन किया जा सकता है। आपको बता दें कि हाल ही में एनसीबीआई ने एक लेख प्रकाशित किया है, जिसमें बताया गया है कि पपीते के अर्क और अन्य भागों में पॉलीफेनोल्स नामक शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट पाया जाता है। यह एंटीऑक्सीडेंट गुण ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस और तनाव को कम करने काम करता है और बीमारियों से लड़ने के लिए शरीर को तैयार करता है। इसके अलावा यह फ्री रेडिकल्स को भी खत्म करता है। साथ ही गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल ट्रैक्ट यानी पाचन की समस्याओं को दूर करने के लिए जाना जाता है। 

पपीता खाने के फायदे सूजन में 

एक उम्र और बहुत से कारणों की वजह से लोगों के शरीर में सूजन की समस्या पैदा होने लग जाती है। इस स्थिति को ज्यादातर लोग बहुत हल्के में आंकते हैं। लेकिन वह यह नहीं जानते कि साधारण सी दिखने वाली सूजन आगे चलकर कैंसर, मधुमेह और धमनियों की समस्या को भी जन्म दे सकती हैं। ऐसे में पपीता के लाभ आपको मिल सकते हैं। आपको बता दें कि पपीता में एंटी इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं जो सूजन से राहत दिलाने का काम करते हैं। साथ ही सूजन की वजह से होने वाली अन्य समस्याओं से भी पपीता बचा सकता है। 

पपीता के फायदे प्लेटलेट बढ़ाने में

ऐसे कई कारण हैं जिनकी वजह से व्यक्ति के शरीर में प्लेटलेट्स की कमी होने लगती है। जिनमें से डेंगू की समस्या सबसे आम है। आपको बता दें कि प्लेटलेट्स एक कोशिका होती है जो खून के थक्के बनाने का काम करती है ताकि रक्तस्राव को रोका जा सके। लेकिन जब प्लेटलेट्स गिरने लगती है, रक्तस्राव निरंतर होता रहता है। ऐसे में Papita Khane Ke Fayde देखे जा सकते हैं। आपको बता दें कि पपीता के अंदर कारापाइन, मैलिक एसिड, क्विनिक एसिड,  और क्लिटोरिन नामक घटक मौजूद होते हैं। यह सभी घटक प्लेटलेट्स को बढ़ाने का काम करते हैं। इसके अलावा पपीते के पेड़ के पत्ते भी प्लेटलेट्स को बढ़ाने के लिए जाने जाते हैं। 

डायबिटीज में पपीता 

डायबिटीज आज के युग की सबसे खतरनाक बीमारियों में से एक है। ऐसे में जो लोग डायबिटीज से पीड़ित होते हैं, उन लोगों के लिए पपीता फायदेमंद माना जाता है। ऐसा इसलिए क्योंकि पपीते के अंदर एंटी डायबिटीज गुण मौजूद होते हैं, जो शरीर में रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने का काम करता है। इसके अलावा जिन लोगों की फैमिली हिस्ट्री में पहले से ही डायबिटीज रही हो, इस तरह के लोग डायबिटीज से भी बच सकते हैं। 

फंगल इन्फेक्शन से छुटकारा 

स्किन से जुड़े फंगल इन्फेक्शन बेहद आम तो हैं। लेकिन इनमें से ज्यादातर के होने पर न केवल खुजली होने लगती है। बल्कि यह कई बार शर्मिंदगी की वजह भी बन जाते हैं। ऐसे में पपीता का उपयोग किया जा सकता है। आपको बता दें कि पपीते के अंदर एंटी फंगल गुण होते हैं जो दाद खाज खुजली से राहत दिला सकते हैं। इसके लिए आप पपीते के पत्तों से लेकर उसकी छाल, बीज आदि को प्रभावित स्थान पर लगाकर आराम पा सकते हैं। 

वजन घटाने में पपीता लाभदायक

अगर आप उन लोगों में से हैं जो बहुत लंबे समय से वजन घटाने की कोशिश कर रहे हैं, तो आपको बता दें कि आपके लिए पपीता बहुत फायदेमंद हो सकता है। दरअसल पपीते के अंदर एंटी ओबेसिटी गुण होते हैं जो मोटापे को घटाने काम करते हैं। इसके अलावा पपीते में कैलोरीज भी बहुत कम होती हैं और यह फाइबर के लिए भी जाना जाता है। यानी इसे खाने के बाद आपका पेट तो लंबे समय तक भरा रहता ही है। साथ ही आपको अपने कैलोरीज इनटेक में कुछ बदलाव करने की जरूरत नहीं पड़ती।

आंखों के लिए

क्या आप उन लोगों में से हैं जिनकी आंखों की रोशनी कमजोर हो रही है, या आपको घंटों तक सिस्टम या मोबाइल की स्क्रीन पर सिर खपाना पड़ता है। अगर हां तो आपकी आंखों को सुरक्षित रखने के लिए Papita Ke Fayde देखे जा सकते हैं। बता दें कि पपीता के अंदर विटामिन सी, विटामिन ए, विटामिन ई समेत कैरोटीनॉयड ल्यूटिन और ज़ेक्सैंटीन भी मौजूद होता है। पपीते के यह गुण स्क्रीन से निकलने वाले नीली रोशनी से आपकी आंखों पर पड़ने वाले प्रभाव को कम करते हैं। इसके अलावा उम्र के साथ मोतियाबिंद की समस्या को भी यह कम कर सकता है।

पपीता खाने के लाभ स्किन पर

स्किन से जुड़ी कई समस्याओं को कम करने में पपीता बेहद गुणकारी माना जाता है। दरअसल पपीते के अंदर बायोफ्लेवोनोइड, एंटीऑक्सीडेंट, एंटी फंगल और लाइकोपीन जैसे गुण पाए जाते हैं जो स्किन से जुड़ी बहुत सारी समस्याओं को खत्म करने का काम करते हैं। आप पपीता का सेवन स्किन से जुड़ी कई समस्याओं में कर सकते हैं, जो कुछ इस प्रकार है

  • आंखों के नीचे काले घेरे होने पर फायदेमंद है पपीता।
  • एक्जिमा के दौरान पपीता लाभदायक।
  • सोरायसिस में पपीता खाने के लाभ।
  • टैनिंग से छुटाकारा दिलाए पपीता।
  • कील मुहांसो से दिलाए छुटकारा।
  • सूरज की खतरनाक किरणों से बचाए पपीता।

बालों के लिए पपीता

बाजार में ऐसे कई उत्पाद हैं जो डैंड्रफ को खत्म करने का दावा करते हैं। माना जाता है कि इन सभी के अंदर पपीते के अर्क को शामिल किया जाता है। ऐसे में अगर आप भी डैंड्रफ की समस्या या बाल झड़ने की दिक्कतों से परेशान हैं तो आप पपीते से बने उत्पादों का उपयोग कर सकते हैं। इसके अलावा पपीते के छिलके और पत्तों से बने पेस्ट को सिर पर भी लगा सकते हैं। इससे आपको डैंड्रफ से राहत मिल जाएगी।

रोग प्रतिरोधक क्षमता में पपीता

मौसम के बदलने के साथ या जरा सा कुछ ठंडा गर्म खाने के बाद कई लोग बुरी तरह बीमार पड़ने लगते हैं। ऐसा कमजोर रोग प्रतिरोधक क्षमता की वजह से होता है। अगर आपकी इम्यूनिटी भी बेहद कमजोर है तो आपको पपीता खाना चाहिए। पपीते के लाभ आपको रोग प्रतिरोधक क्षमता में देखने को मिल सकते हैं। आपको बता दें कि इसके अंदर एंटीऑक्सीडेंट और इम्यूनो स्टीमुलेंट, विटामिन सी, विटामिन ए, और फाइबर जैसे गुण होते हैं जो आपकी इम्यूनिटी को मजबूती प्रदान करते हैं। जिसके जरिए आप बीमारियों से लड़ भी पाते हैं और बच भी जाते हैं। 

पपीते खाने के फायदे गर्भावस्था में 

गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ता है जैसे मतली, उल्टी, और मॉर्निंग सिकनेस आदि। इन सभी समस्याओं में पपीते का सेवन कर सकते हैं। लेकिन ध्यान रहे गर्भवती महिला किसी भी स्थिति में कच्चे पपीते का सेवन न करें। इससे गर्भपात भी हो सकता है। 

घाव भरने में 

चोट या घाव अक्सर भरने में लंबा समय लग जाता है। लेकिन जो लोग चोट या घाव के दौरान पपीते का सेवन करते हैं, उनका घाव जल्दी भर सकता है। ऐसा हम नहीं बल्कि हाल ही में हुआ एक शोध कह रहा है। इस शोध के मुताबिक पपीते के अंदर घाव को जल्दी भरने के गुण होते हैं। इसलिए अगर आपको किसी प्रकार की चोट लगी है, या कोई घाव है तो उसे जल्दी हील करने के लिए पपीते का सेवन कर सकते हैं। 

पपीता के अन्य फायदे – Papita Ke Faydeपपीते के फायदे - Papita ke fayde

  1. अगर आप मुंह की छालों की समस्या से परेशान हैं तो पपीते के पेड़ से निकलने वाले दूध को छालों पर लगाकर उनसे राहत पा सकते हैं। 
  2. दांत दर्द में पपीते के पेड़ का दूध लगाना दर्द से राहत दिला सकता है।
  3. अगर गले में दर्द या ठंड लगने की वजह से यह बैठ गया है तो आप पपीते के दूध को पानी में डालकर गरारे कर सकते हैं। इससे गले के दर्द से राहत मिल जाएगी। 
  4. शारीरिक कमजोरी को दूर करने में पपीता खाने के फायदे हो सकते हैं। 
  5. दस्त लगने पर पपीता के बीजों को चावल के साथ खाएं। इससे दस्त पर रोक लग सकती है। 
  6. कच्चे पपीते के दूध को बवासीर पर लगाने से इसकी वजह से होने वाले दर्द से राहत मिल सकती है। 
  7. लकवा का दौरा पड़ने के बाद अगर जल्दी हील होना है तो ऐसे में पपीता के फायदे देखे जा सकते हैं। 
  8. ऐसे लोग जो बढ़े हुए कोलेस्ट्रॉल की समस्या से परेशान हैं। वह लोग पपीता खाने के लाभ उठा सकते हैं। इसके जरिए बैड कोलेस्ट्रॉल कम किया जा सकता है।
  9. मासिक धर्म के दौरान होने वाली दिक्कतें, जैसे ऐंठन, दर्द आदि से राहत पाने के लिए आप पपीते का लाभ ले सकते हैं।
  10. स्ट्रेस की समस्या से पीड़ित लोगों के लिए भी पपीते के फायदे देखे जा सकते हैं। आपको बता दें कि पपीता में एंटी डिप्रेशन गुण होते हैं। 
  11. पपीता के फायदे गठिया के जोखिम को कम करने में भी देखे जा सकते हैं। 

पपीते के उपयोग के तरीके और समय – Uses of Papaya in Hindi पपीता खाने का सही समय 

पपीता खाने के लाभ तो आपने जान लिए लेकिन अब हम आपको बताते हैं कि आप पपीते का उपयोग किस तरह से कर सकते हैं। साथ ही हम आपको यह भी बताएंगे कि पपीता खाने का सही समय क्या है। आइए जानते हैं पपीते के उपयोग से जुड़ी अन्य जानकारी। 

पपीता खाने का तरीका 

  • पपीते का छिलका उतारकर और उसे बीजों को अलग करके इसे खा सकते हैं। 
  • पपीते के जरिए स्मूदी और जूस बनाकर पिया जा सकता है। 
  • पपीते के जरिए केक और आइसक्रीम आदि बनाई जा सकती है।
  • पपीते के गूदे को आप स्किन पर लगाकर मसाज कर सकते हैं। इससे स्किन साफ होगी। 
  • फ्रूट चार्ट बनाने के लिए भी पपीता के उपयोग किया जा सकता है। 
  • पपीते की मिठाई और हलवा भी बनाया जा सकता है। 

पपीता खाने का सही समय 

  • पपीता खाने का सबसे सही समय सुबह ब्रेकफास्ट का होता है। 
  • पपीते का सेवन दोपहर के लंच से पहले स्नैक्स के तौर पर भी किया जा सकता है। 
  • पपीता खाने का सही समय रात में भी हो सकता है। आप इसके जरिए बनाई गई मिठाई या हलवा खा सकते हैं। 

पपीते का उपयोगी भाग

पपीते के छिलके से लेकर उसके गूदे, बीज और यहां तक पेड़ की छाल और उससे निकलने वाला दूध भी बेहद उपयोगी होता है। ऐसे में कहा जा सकता है कि केवल पपीता खाने के लिए ही नहीं। बल्कि संपूर्ण स्वास्थ्य के लिए उपयोगी है। 

पपीता खाने के नुकसान – Side Effects of Papaya in Hindi पपीता खाने के नुकसान - Side Effects of Papaya in Hindi 

दोस्तों किसी भी सिक्के का केवल एक पहलू नहीं होता। उसी तरह पपीते के फायदे और नुकसान दोनों ही हैं। अब तक आपने पपीता खाने के फायदे जानें हैं। अब हम आपको पपीता खाने के नुकसानों से रूबरू कराएंगे। इसके बाद आप तय कर सकते हैं कि आपको पपीता का सेवन करना है या नहीं। 

पपीते के नुकसान 

  • पपीते के सेवन से गर्भपात होने का खतरा बढ़ जाता है। 
  • ऐसे लोग जो एलर्जी से पीड़ित हैं, उन लोगों को पपीते को स्किन पर नहीं लगाना चाहिए। 
  • पपीते के अधिक सेवन से थायराइड की समस्या हो सकती है। 
  • ऐसे लोग जो डायबिटीज में शुगर लेवल को कम करने की दवा खाते हैं उन लोगों को डॉक्टर की सलाह पर ही इसका सेवन करना चाहिए। क्योंकि यह रक्त शर्करा स्तर को कम करने का काम करता है। 
  • पपीते के अंदर लेटेक्स में पैपेन होता है जो फूड पाइप को डैमेज कर सकता है। 

नोट – दोस्तों पपीता खाने से किसी बीमारी का उपचार नहीं होता। अगर आपको कोई समस्या है तो आप डॉक्टर से संपर्क करें और उसके बाद ही इसका सेवन करें। 

निष्कर्ष – Conclusion

दोस्तों हमने अपने इस लेख में आपको Papita Khane Ke Fayde Aur Nuksan बता दिएं हैं। अब अगर आप पपीते के फायदे उठाना चाहते हैं तो इसका सेवन कर सकते हैं। अगर आपको यह लेख पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करें।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

  1. पपीता खाने का सही समय क्या है?

    पपीता खाने का सही समय सुबह, दोपहर और शाम को है। आप इसमें से किसी भी समय पपीते का सेवन कर सकते हैं।

  2. पपीता कब खाना चाहिए ?

    आप पपीते का सेवन शारीरिक कमजोरी के दौरान, बीमारी के दौरान, या यूं भी कर सकते हैं। यानी पपीता कब खाना चाहिए यह सवाल न पूछे, जब आपका मन करें तब आप पपीता खाएं।

  3. पपीता खाने से पीरीयड्स की दिक्कत दूर हो सकती है?

    हां पीरियड्स से जुड़ी कई तरह की दिक्कतें जैसे दर्द, ऐंठन से राहत पाने के लिए पपीता का सेवन किया जा सकता है।

  4. पपीते के तासीर कैसी होती है ?

    पपीते की तासीर बेहद गर्म होती है। इसलिए पपीते का सेवन सही मात्रा में ही करना चाहिए।

यह भी पढ़े
वजन घटाने की एक्सरसाइज
प्रोटीनेक्स के फायदे और नुकसान
लड़की पटाने के तरीके जानिए
काजू खाने के फायदे


About The Post : studyholic is an aggregator of content and does not claim any rights on the content or Images. The copyrights of all the content belongs to their respective original owners. All content has been linked to respective platforms.

View source version on : https://readonmirror.com/papita-khane-ke-fayde/

Leave a Comment